दुर्लभ जी के जनम खरीदपुर कलकत्‍ता म 1.10.1924 म होय रहिस अउ उंकर इंतकाल बिलासपुर म रहते रहत 16 जून सन् 2000 ई.म होगइस दुर्लभ जी छत्‍तीसगढ़ के रंग चेतना ले सराबोर रहिन। सुसील यदु के सब्‍द म सीर‍ीया जी बारह साल के उमर ले तुकबंदी करना सुरू कर दिये रहिन विप्र जी के प्रेरना म उन भारतेन्‍दु साहित्‍य समिति ले जुडे़ रहिन। उंकर ये ग्रंथ मन परकासित हो पाए हे (1) गमकत गीत (2) मेघदूत (3) सुन्‍दर कांड (नाटक) (4) महासती विन्‍दामति (5) मधुरस हिन्‍दी के प्रकासित गीत संग्रह आय दुर्लभ हजारा। अभी तक अप्रकासित दोहा संग्रह आय।