Category: व्यंग्य

चुनाव अउ मंदहा सेवा

चुनाव तिहार के बेरा आवत देख मंदहा देवता हा अइलाय भाजी मा पानी परत हरियाय बरोबर दिखे लगथे।थोकिन अटपटहा लगही कि मेहा मंदहा ला देवता कहि परेंव फेर चुनाव के बेरा मा सबके बिगड़ी बनइया काम सिधोइया इहीच हा आय। जइसे चुनाव के लगन फरिहाथे दिन तिथी माढ़थे तब गाँव के मंदहा समूह के खुशी ला झन पूछ ,शेर बर सवा शेर हो जाथे।
मंदहा ला का चाही, तीन बेर पीना शेर बरोबर जीना।
अब तो कोनो संस्था , समाज, लोकतंत्र के चुनई हा बिगर मंद, मंदहा के निपट जाही कहिबे ता लबारी आय।चुनाव बेरा आइस तहान मंदहा देवता के पूजा शुरु। अन्ते बेरा मा जेन ओकर घर मा थूँकेबर नइ जाय चुनाव मा चाटे बर जथे।आज हर पार्टी हा मंदहा के सेवा बर दूनो हाथ जोड़के एक पाँव मा खड़े हो जथे। ओहा जेन चढ़ावा माँगथे , देयबर तैयार हो जथे।
मंदहादेव मन त्रिदेव, पंचपरमेश्वर के समूह घलाव बना लेथे।एक गाँव मा दू-तीन समूह ले जादा घलाव रहिथे।हर पार्टी बर अलगेच अलग समूह मन बूता करथे। चुनाव तिथि के घोषणा पाछू पार्टी के जिला, ब्लाक पदाधिकारी मन इकर सेवा करे अउ मेवा पाय बर खोजत दउड़त आथे। जौन पार्टी संग भाव ठस जथे उँकर भाग खुल जथे। मंदहा मन के पंन्दरा महिना दिन के पीये खाय के बेवस्था हो जथे। घर वाले मन कुछ बोल नइ सकय काबर कि अब एमन पचास पचीस माँगे के जगा घर मा ओतकी लान के देथे अउ भामाशाह बन जथे। घर के सब बूता छोड़ छाड़ के चुनाव के बूता ला राष्ट्रीय धरम समझके निभाय बर समूह मा भिड़ जथे।
बिहनिया ले तैयार होके पार्टी कार्यालय जाके अपन पहिचान बर टीशर्ट, टोपी, गमछा, पहिरथे।बेनर, पोस्टर, पाम्पलेट, पर्चा,स्टीकर, झंडा,बेनर, अउ जरुरत के जतका जिनिस रथे ओला गाड़ी मा जोरथे। नास्ता पानी के संग बिहनिया के तरपनी लेथे।अउ निकल जथे परचार मा।मंदहा मन जतका दिन तक पार्टी मा बने रथे ओतका दिन ले ईमानदारी ले चंदन मा लपटाय साँप बरोबर संग देथय। सादा मनखे हा तो पार्टी ले गाय अउ शेर असन दुरिहा बनाय रहिथे।
सब जानथे आज के बेरा मा कोनों रैली, सभा ला सफल करेबर कतका पसीना बोहायबर परथे। फेर मंदहा समूह के रहे ले ये बोझा कतका हरु हो जथे।सादा मनखे रैली मा एक तो आवय नइ दूसर कोनों ला लावय नइ। ये बखत मंदहा समूह हा हनुमान बरोबर आके संजीवनी बूटी के पहाड़ लान देथे।मंदहा समूह हा सब बूता मा निपुण रहिथे। बेनर पोस्टर लगाना, पर्चा पाम्पलेट बाँटना , नारा लगाना, अपन उम्मीदवार के बखान करना सब एक पाव चढ़े के पाछू लघियाँत हो जथे। मंदहा मन अपन उम्मीदवार के अतका गुण बताही जइसे बचपना ले एके तरिया मा नहाय हे, एके पतरी मा भात खाय हे।घर मा रोजेच आना जाना हे।सादा मनखे मन नारी परानी, बेपारी, बड़हर, निच्चट गरीब कर परचार मा जाय बर छिनमिनाथे।मंदहा बर ये सब एक बरोबर आय।गहिरा बरोबर सबो ला एक ला उडठी मा हाँक डारथे।
गाँव मा कभू कभू ये मंदहा समूह मन लड़ई घलाव करवा देथे।अपन मालिक के वफादार कुकुर दूसर गली के कुकुर ला आवत देखतेच गुरेरथे, भुँकथे अउ झपट पड़थे अइसने अलग अलग पार्टी बर सेवा देवइया मन लड़ पड़थे। सेवा मा कोनों परकार के कमी हो जाय तब ये देवता मन भस्मासुर बन जथे।कतको घाँव पार्टी वाले मन ला अंगठा अउ डुँड़ी अंगठी देखावत धमकी घलाव दे देथे। अब मंदहा के काय बिगाड़ लेहीं।मंदहा मन बिगड़ जहीं ता पार्टी अउ उम्मीदवार के सबो बिगड़ जही।ऐकरे सेती सबो पार्टी मन मंदहा देव के पूजा करथेअउ नराज झन होवय तेकर उदिम करथे।

हीरालाल गुरजी “समय”
छुरा, जिला-गरियाबंद

होली विशेष राशिफल

होली के रंग —– राशिफल के संग

हमर हिन्दू धर्म में पंचांग के बहुत महत्व हे। कोई भी काम करथन त पहिली पंचांग देखथन तब काम के शुरूआत करथन। राशिफल ह हमर जीवन में बहुत महत्व रखथे । एकर से हमला शुभ – अशुभ के जानकारी होथे ।
होली के शुभ अवसर में ज्योतिषाचार्य स्वामी भकानंद महाराज जी के द्वारा भांग के नशा में बनाय गे राशिफल आप मन के सामने प्रस्तुत हे —-




मेष —–( अ,चु, चे, चो, ला, ली,लू,ले, )

ए साल ह मेष राशि वाला मन बर जादा अच्छा नइहे । परिवार में कलह अऊ अशांति रही । व्यापार ह मंदा रही। काबर कि ओकर राशि में अढैया शनि के प्रभाव परत हे। मंगल ह अपन घर ले पाछू डाहर घुंच गे हे। तिहार बार में जादा पीना हानिकारक हे। एक्सीडेंट होय के संभावना हे।

उपाय —- चार ठन नींबू ल ओकर बीच ल चीर के राख ल भर दे अऊ बीच चौक में जाके चारों डाहर एक एक ठन नींबू ल फेंक दे। एकर से किरपा आही ।

वृष — (इ,उ,ए,ओ,वा,वी,वू, वे,वो)

वृष राशि बर ए साल ह थोकिन बढ़िया हे ।बुध अऊ शुक्र ह जादा ताकतवर दिखत हे। गड़े हंडा मिले के संभावना हे।सावधानी भी बरते के जरूरत हे। नहीं ते हंडा के बँटवारा में जेल जा सकत हे। लोग लइका मन ल कष्ट मिल सकत हे। टूरा – टूरी मन अब्बड़ पदोही ।

उपाय —- उल्टा पाँख के कारी कुकरी अउ खैरा बोकरा ला कोठा में पूजवन दे से कुल देवी प्रसन्न होही ।

मिथुन —- (का,की,कु, घ,ड़ ,छ,के,को,हा )

मिथुन राशि वाला मन ल बाई (पत्नी )के बात माने से बड़ फायदा होही । ससुराल डाहर ले बहुत सहयोग मिलही ।कुंवारा टूरा – टूरी मन के जल्दी बिहाव के योग दिखत हे।बिहाव के पहिली टूरा – टूरी मन ल मोबाइल में जादा देर तक गोठियाना नुकसान दायक हे। एकर से मंगनी टूटे के संभावना हे।
फटफटी ल धीरे चलाय अऊ हेलमेट लगाके चलाय।नहीं ते दुर्घटना के संभावना हे।

उपाय — नींबू अऊ मिरचा ल तीन दिन तक अपन घेंच में ओरमा के घुमना हे। एकर से शनि के प्रकोप हट जाही ।


कर्क — (ही,हू, हे,हो,डा,डी,डू, डे,डो )

ए साल कर्क राशि में मंगल के जगा शनि प्रवेश करत हे। अऊ राहू केतु मन चारो डाहर घूमत हे। एकर से शत्रु पक्ष ले बांच के रहे बर परही । संगवारी मन संग बइठ के जादा खवई पीयई नुकसान दायक हे।
घर में लड़ई झगरा होय के संभावना हे। शारीरिक कष्ट मिल सकत हे। पढ़े लिखे मनखे मन ल नौकरी मिले के संभावना हे।
बाईं ल सोना के मंगलसूत्र पहिनाय से खुश रही । नहीं ते रोज कलर कलर करके झगरा मताही ।

उपाय — होली के दिन भांग के पुडिया ल शंकर भगवान में चढ़ाना हे अऊ दू दम मार के घर में चुपचाप सुतना हे।

सिंह — (मा, मि, मू,मे,मो,टा,टी,टु,टे)

सिंह राशि में कुछ दिन तक अढैया शनि के प्रभाव रहि । एकर से शारीरिक कष्ट बढ़ सकत हे। शारीरिक कष्ट दूर करे बर होली के दिन एक पौवा अमृत रस पी सकत हे। घर परिवार में खुशी के माहोल रही । स्वास्थ्य ह ऊंच नीच होवत रही। मोटर गाड़ी से बांच के रहना हे। कर्मचारी मन ल बिसेस लाभ मिलही । प्रमोशन के चाँस हे ।

उपाय — होली के दिन कुरता अऊ फुलपैंठ ल उल्टा पहिर के घूमना हे । अउ बाई के मुंहू में केरवस ला लगाना हे । एकर से शनि गिरहा टूट जाही ।

कन्या — (टो, पा,पी,पू, ष,ण,ठ, पे,पो )

कन्या राशि में कन्या मन के चंद्रमा ल छोड़ के सबो ग्रह बिगड़ गेहे। सब ऐती तेती हो गेहे।
ए मन ह रात दिन मोबाइल में बूड़े रहि। टूरा टूरी मन के प्रेम रोग बढ़े के संभावना जादा हे।
शनि हा सुख शांति में रुकावट पैदा करही अऊ खरचा ल बढ़ाही ।
व्यापारी वर्ग ल बहुत फायदा होही, इन्कम टेक्स विभाग के छापा पर सकत हे। ऐकर से बांचे बर तिजौरी में जतका रुपिया पइसा रखे होही अड़ोस पड़ोस में बांट दे।

उपाय — होली के दिन शुद्ध मउहा के रस ल सात झन ल पीयाय अऊ चखना घलो बांटे एकर से किरपा आही ।

तुला – (रा, री, रू, रे,ये,ता, ती, तू,ते )

तुला राशि वाला मन बर ए साल शुभ रहि । पिछले साल के लगे साढ़े साति शनि ह कुछ दिन में उतर जाही ।
कोट कचहरी के मुकदमा में जीत होही । घर में रखे सोना दान करे के जरूरत हे।
गुप्त बात ल अपन घरवाली ल भी नइ बताना हे। नहीं ते भंडाफोड़ हो जाही । घरवाली अउ बाहर वाली दूनो ल खुश करे बर नौ लखा हार पहिनाय ल परही।
महिला मन ल भी गुप्त बात छुपा के रखे बर परही अऊ सास ससुर के निंदा से बचके रहि,तब चंद्रमा ह मंगल करही। स्कूटी ल मुंहू बांध के नइ चलाना हे। नहीं ते शंका के दायरा में आ सकत हे अऊ कलह बढ़ सकत हे।

उपाय — नींबू अऊ मिरचा ल सात बार उतार के पति – पत्नी दूनो एक दूसर ल खवाना हे।
एकर से किरपा आही ।


बृश्चिक — (तो,ना,नी, नू, ने, नो,या,यी, यू)

बृश्चिक राशि वाला मन के शनि के ढैया शुरू होगे हे। शनि अऊ मंगल ह कुंडली मार के बइठ गेहे ।
एकर से बहुत परेशानी होही ।
लोग लइका मन भी परेशान करही अऊ खरचा ह बाढ़ही ।
बाई के मेकप में भी बहुत खरचा होही। पति देव ल थोथना ओरमा के नइ बइठना हे अऊ बाई ल खुश करके राखना हे।एकर से मया पिरित ह बाढ़ही । धंधा पानी अऊ नौकरी वाला मन के फायदा होही ।
लड़की – लड़का मन के बिहाव के संयोग बनत हे।

उपाय — शनि देव के मंदिर में तेल चढ़ाना हे अऊ रोज सुन्दर कांड के पाठ करना हे।लफड़ा झपड़ा कांड से बच के रहना हे।

धनु -( ये,यो, भा, भी,भू,धा,फ,ढ़ा,भे)

साढ़े साती शनि लगे के कारण पति पत्नी में अब्बड़ लड़ई झगरा होही।
पति ह रोज पी के आही त पत्नी ल बाहरी के मुठिया में मारे ल परही।
राहू केतु ह बाधा पैदा करही । जुंवा , सट्टा में हारे के संभावना हे।
मोटर गाड़ी देख के चलाना हे, नहीं ते दुर्घटना के संभावना हे।
जेवर गहना ल संभाल के रखना हे । चोरी होय के संभावना हे।

उपाय — होली के दिन खैरा बोकरा ल गाँव के बाहिर में ले जाके संगवारी मन संग पार्टी मनाना हे अउ एक बोतल दारु भैरव बाबा में चढाना हे ।

मकर — ( जो,ज, जी,खी, खू, खे, खो,गा, गी )

मकर राशि वाला मन के शनि ह द्वादश स्थान में हे । कुछ दिन में साढ़े साती शनि शुरू हो जाही । एकर से मानसिक तनाव अऊ घर में लड़ई झगरा शुरू हो जाही । खरचा ह बढ़े के संभावना हे। आगी से बचके रहना हे। घर दुकान में आगी से दुर्घटना हो सकत हे। सावधानी बरते बर ड्रम में पानी भर के रखना जरूरी हे।
संगवारी मन से अनबन होय के संभावना हे। संयम बरते बर परही।

उपाय — ऊपर गोड़ नीचे मुड़ी करके “ऊं शं शनैश्चराय नमः”मंत्र के जाप रोज 108 बार करना हे। एकर से शनि देव के किरपा आही । करिया कुकुर ला रोज रोटी खवाना हे ।

कुंभ — ( गू, गे,गो, सा,सी,से,सो )

ए राशि वाला मन के शनि, राहू , केतु ल छोड़ के सब ग्रह बिगड़े हुए हे। गड़े धन मिले के संभावना हे। नवा मकान अऊ नवा वाहन खरीदे के योग हे। लड़की लड़का मन के बिहाव के योग बनत हे। कोई कोई मन उढ़रिया भी भाग सकत हे। माँ बाप ल बिसेस सावधानी बरतें के जरूरत हे।
टूरी मन ला एंड्राइड फोन देना नुकसान दायक हे ।

उपाय — खैरा कुकरा ल मसान घाट में जाके पूजवन देना हे अऊ रातभर हवन करना हे।
करिया बिलई ला घीव पीयाना हे । सब ग्रह शांत हो जाही ।

मीन— ( दी,दू, थ,झ,भ,दे,दो,चा, ची )

ए राशि वाला मन के मंगल, गुरु अऊ शनि कोनों ग्रह ठीक नइहे । एकर सेती मन अशांत रही अऊ पति पत्नी में रोज झगरा होही ।
पत्नी के बिसेस मांग ल पूरा करे से खुश रही । संतान प्राप्ति के योग बनत हे। जुड़वा लइका हो सकत हे । अचानक धन प्राप्ति हो सकत हे। जुंवा सट्टा में जीते के योग हे। शनि के तिरछी नजर के कारण चोरी होय के प्रबल संभावना हे।
प्रेमी प्रेमिका ल कष्ट मिल सकत हे। परिवार के सहयोग नइ मिले।
टूरा मन ला यू ट्यूब देखे मा भारी नुकसान हे ।

उपाय — होली के दिन अपन पूरा शरीर में अंडी के तेल अऊ राख चुपर के एक गोड़ में खड़ा होके “ऊं क्रा क्री क्रौ क्रौ सः भौमाय नमः के जाप करना हे। एकर से किरपा आही अऊ सब कष्ट दूर हो जाही ।





नोट — ए राशिफल ह हंसी मजाक अऊ शुद्ध मनोरंजन खातिर लिखे गेहे।
जादा जानकारी बर स्वामी भकानंद महाराज जी ला फोन कर सकत हव ।
फोन नंबर — ९१९१९१९१९१
कोई भी प्रकार से मन में शंका कुशंका झन करहूं ।
बुरा ना मानो होली है ।

महेन्द्र देवांगन “माटी” (शिक्षक)
गोपीबंद पारा पंडरिया
जिला – कबीरधाम (छ ग )
पिन – 491559
मो नं – 8602407353
Email – mahendradewanganmati@gmail.com