Category: समाचार

छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के तीन दिवसीय छठवां प्रांतीय सम्मेलन सम्‍पन्‍न

छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के तीन दिवसीय छठवां प्रांतीय सम्मेलन के उदघाट्न समारोह 19 जनवरी के दिन बेमेतरा छत्तीसगढ़ म सम्पन्न होइस। ए समारोह के माई पहुना माननीय श्री दयालदास बघेल संस्कृति मंत्री छत्तीसगढ़ शासन, अध्यक्षता डॉ विनय कुमार पाठक आयोग के अध्यक्ष, खास सगा श्री अवधेश चंदेल विधायक बेमेतरा, श्री सुरजीत नवदीप अउ श्री गणेश सोनी सदस्य आयोग, श्री राजेंद्र शर्मा जिला भाजपा अध्यक्ष, श्री नीलू शर्मा अध्यक्ष भंडार निगम अउ संचालन डॉ सुरेंद्र दुबे सचिव आयोग करीन।

नेवताय पहुना मन छत्तीसगढ़ी भाखा ल आघु बढ़ाय बर उदीम करइया मन के सम्मान करीन जेमा डॉ. जी. डी. शर्मा कुलपति बिलासपुर विवि, डॉ. बंश गोपाल सिंह, कुलपति पं. सुन्दरलाल शर्मा मुक्त विवि, श्री मंगल नसीम वरिष्ठ साहित्यकार दिल्ली, श्री विक्रम सिंह राजभाषा अधिकारी द.पू.म.रेलवे, श्री संजीव तिवारी साहित्यकार दुर्ग, श्री शरद यादव साहित्यकार सीपत, श्री व्योम वत्स दिल्ली रहीन।

एखर बाद पुस्तक विमोचन के कार्यक्रम म आयोग दुआरा प्रकाशित डॉ. विनय कुमार पाठक के लोक व्यवहार अउ कार्यालयीन छत्तीसगढ़ी, डॉ. जे. आर. सोनी के सतनाम रहस्य, छत्तीसगढ़ी राजभाषा विशेषांक के संगे संग 60 पुस्तक मन के विमोचन होइस जेमा मुख्य रूप ले श्री राघवेन्द्र दुबे, श्री विवेक तिवारी, श्री निखिल पाठक, डॉ विनोद कुमार वर्मा, डॉ रंजना मिश्रा, श्रीमती लतिका मिश्रा, डॉ बलदाऊ प्रसाद निर्मलकर, श्रीमती विंध्यवासिनी दुबे, श्रीनिवास राव, डॉ. गीता तिवारी, डॉ. प्रदीप निर्णेजक, श्री नरेंद्र कौशिक, श्रीमती सुषमा पाठक, श्री गणेशराम राजपूत रहिन।

संझा छत्तीसगढ़ी कवि सम्मेलन होइस जेन बिहनिया 5 बजे तक चलीस एखर संचालन श्री पद्मलोचन शर्मा, श्री विवेक तिवारी, श्री अजय अमृतांशु, श्री काशीपुरी कुंदन, श्री अशोक आकाश, श्री संतोष कश्यप, श्री राजेंद्र पाटकर, श्री दिनेश गौतम, श्री किशोर तिवारी, श्री रामानंद त्रिपाठी, श्री अजय शर्मा मन करीन ए मउका म पधारे श्री कौशल साहू, श्री अनूप श्रीवास्तव, श्रीमती वसंती वर्मा, श्रीमती रश्मि गुप्ता समेत जम्मो कवि मन अपन प्रस्तुति दिहिन।




छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के तीन दिवसीय छठवां प्रांतीय सम्मेलन बेमेतरा छत्तीसगढ़ के दूसर दिन 20 जनवरी के समारोह म् माई पहुना माननीय श्री पुन्नूलाल मोहले मंत्री छत्तीसगढ़ शासन अउ डॉ विनय कुमार पाठक अध्यक्ष राजभाषा आयोग के अध्यक्षता अउ खास सगा श्री अवधेश चंदेल विधायक के गरिमामय उपस्तिथि म् सम्पन्न होइस । जेमा 4 सत्र म् चर्चा गोष्ठी होइस। पहिली सत्र “छत्तीसगढ़ी साहित्य म् महिला साहित्यकार मन के भूमिका” जेखर अध्यक्षता डॉ सत्यभामा आडिल, संचालन श्रीमती शकुंतला शर्मा अउ वक्ता डॉ अनुसूइया अग्रवाल, डॉ मृणालिका ओझा, डॉ हंसा शुक्ला, डॉ निरुपमा शर्मा, डॉ संध्यारानी शुक्ला, डॉ विद्यावती चंद्राकर, श्रीमती सरला शर्मा, श्रीमती तुलसी तिवारी, श्रीमती शशि दुबे, श्रीमती सुधा शर्मा, श्रीमती शोभा श्रीवास्तव, डॉ सुनीता मिश्रा रहीन ।

जम्मो वक्ता मन सार्थक चरचा करीन अउ आभार प्रदर्शन श्रीमती सुषमा शर्मा करिस। एखर बाद दूसर सत्र के विषय “लोक व्यवहार अउ प्रशासकीय कामकाज म् राजभाषा छत्तीसगढ़ी” के अध्यक्षता डॉ विनय कुमार पाठक, संचालन श्री राहुल सिंह वक्ता श्री राघवेन्द्र दुबे, डॉ सुधीर शर्मा, डॉ विनोद कुमार वर्मा अउ श्री बी रघु रहीन । ए सत्र म छत्तीसगढ़ी ल राजभाषा के रूप म् कइसे प्रयोग म् लाये जावय एखर उपर वक्ता मन अपन विचार रखिन। तीसर सत्र म् “मंचीय काव्य म् छत्तीसगढ़ी के प्रभाव अउ महत्व” विषय उपर अध्यक्षता डॉ विनय कुमार पाठक, संचालन डॉ सुरेंद्र दुबे, वक्ता श्री सुरजीत नवदीप, डॉ पी सी लाल यादव, श्री केदार परिहार, श्री मोहित वर्मा रहिन। एखर बाद चौथा सत्र म् चरचा के विषय “डॉ विमल कुमार पाठक के व्यक्तित्व,कृतित्व अउ योगदान” रहीस सत्र के अध्यक्षता डॉ विनय कुमार पाठक, संचालन डॉ सुरेंद्र दुबे अउ वक्ता डॉ नन्द किशोर तिवारी, श्री राघवेन्द्र दुबे, श्री निखिल पाठक रहीन।

ए मउका म् बेमेतरा आयोजन समिति के श्री अजय शर्मा, रामानंद त्रिपाठी, गजानंद शर्मा, निशा चौबे, सुषमा शर्मा, भारती सिंह अउ संगवारी मन संग श्री विनोद पाठक अउ श्री विवेक तिवारी रहीन।



छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के तीन दिवसीय छठवां प्रांतीय सम्मेलन बेमेतरा छत्तीसगढ़ के तीसर दिन 21 जनवरी के समारोह म चरचा के सत्र रहीस जेमा “छत्तीसगढ़ी म् अनुवाद परंपरा, प्रयोग अउ महत्व” विषय उपर चरचा करे गइस जेमा माई पहुना डॉ विनय कुमार पाठक अध्यक्ष राजभाषा आयोग, डॉ परदेशी राम वर्मा के अध्यक्षता, ख़ास श्री नरेंद्र कौशिक के संचालन रहीस अउ खास सगा श्री सुरजीत नवदीप, श्री गणेश सोनी प्रतीक सदस्य आयोग अउ श्री गणेश कौशिक, वक्ता डॉ दादुलाल जोशी, डॉ सोमनाथ यादव, डॉ सन्तराम देशमुख रहीन। जम्मो झन छत्तीसगढ़ी अनुवाद ल अउ कइसे सम्पन्न बनाय जाय ओखर उपर अपन विचार रखीन।

एखर बाद “खुला सत्र” के आयोजन होइस जेखर अध्यक्षता डॉ जे आर सोनी अउ संचालन श्री पद्मलोचन शर्मा ‘मुँहफट’ करीन, ए सत्र म जम्मो जुरियाये साहित्यकार मन अपन – अपन सुझाव अउ आयोजन के बारे म् अपन विचार ल रखीन। एखर बाद समापन सत्र होइस जेमा आयोग के अध्यक्ष डॉ विनय कुमार पाठक अपन विचार रखिन अउ विधिवत समापन के घोषणा करीन, खास सगा अवधेश चंदेल विधायक बेमेतरा रहीन, ए आयोजन ल सफल बनाय बर पधारे जम्मो अतिथी अउ साहित्यकार मन के आभार आयोग के सचिव डॉ सुरेंद्र दुबे करीन अउ इही तरा मया दया बनाए रखे के संग अउ आखिर म् गीतकार मीर अली मीर के गाये वन्देमातरम् ले छत्तीसगढ़ी के महाकुम्भ के समापन होइस।

ए महाकुम्भ ल सफल बनाय म बेमेतरा के आयोजन समिति के अध्यक्ष अजय शर्मा, संयोजक रामानन्द त्रिपाठी, डॉ राजेंद्र पाटकर, गौरी शंकर बाघ, जगदीश सोनी, गजानंद शर्मा, रामकुमार टंडन, गिरधारी देवांगन, सुषमा शर्मा, निशा चौबे, भारती सिंह अउ संगवारी मन के संग विवेक तिवारी अउ आयोग के अधिकारी कर्मचारी मन रहीन।

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”ये रचना ला सुनव”]



छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के छठवां प्रांतीय सम्मेलन

बेमेतरा म आज ले छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के छठवां प्रांतीय सम्मेलन सुरू होवत हे। ये सम्‍मेलन बर मुख्यमंत्री अऊ संस्कृति मंत्री ह शुभकामना देहे हें। राज्य सरकार के संस्कृति विभाग के संस्था छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के अध्यक्ष डॉ. विनय कुमार पाठक ह पाछू दिनन रायपुर म बताइन कि आयोग के छठवां तीन दिवसीय प्रांतीय सम्मेलन ए महीना के 19 तारीक ले 21 तारीक तक जिला मुख्यालय बेमेतरा म आयोजित करे जाही। ये मां राज्य के कवि अऊ लेखक मन के संग प्रदेश सरकार के मंत्री, छत्तीसगढ़ के सांसद अउ विधायक मन ल घलोक नेंवते गए हे। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह अऊ संस्कृति मंत्री श्री दयालदास बघेल ह सम्मेलन के सफलता बर अपन शुभकामना देहे हे।



डॉ. पाठक ह बताइस कि आयोग के अनुरोध ल सहर्ष स्वीकार करत मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह राज्य सरकार के साल 2018 के कैलेण्डर म 28 नवम्बर के तारीक ल छत्तीसगढ़ी राजभाषा दिवस के रूप म चिन्हांकित करे गए हे। आप मन जानतेच होहू कि छत्तीसगढ़ विधानसभा म 28 नवम्बर 2007 के दिन छत्तीसगढ़ी राजभाषा विधेयक पारित होय रहिस। ए ऐतिहासिक दिन ल यादगार बनाए बर मुख्यमंत्री ह राज्य शासन के वार्षिक कैलेण्डर म ए दिन ल छत्तीसगढ़ी राजभाषा दिवस के रूप म चिन्हांकित करे के निर्देश दिए रहिन। राजस्व विभाग के शासकीय प्रिंटिंग प्रेस ले प्रकाशित ए कैलेण्डर म येसो ये दिन चिन्हांकित कर दे गए हे। आयोग ह एखर बर मुख्यमंत्री के प्रति आभार प्रकट करिस।




आयोग के अध्यक्ष डॉ. पाठक ह बताइस कि सम्मेलन म छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के पहल म आगामी सत्र ले छत्तीसगढ़ ल वैकल्पिक विसय के रूप म स्थान देहे अउ छत्तीसगढ़ी शोधपीठ के शुरूआत करे खातिर गौरीदत्त शर्मा, कुलपति बिलासपुर विश्वविद्यालय, पी.जी. डिप्लोमा ए छत्तीसगढ़ी के स्थापना बर डॉ. वंश गोपाल सिंह कुलपति पं. सुन्दरलाल शर्मा (मुक्त) विश्वविद्यालय बिलासपुर, हिन्दी के संग छत्तीसगढ़ी म प्रचार-प्रसार बर संलग्न दक्षिण पूर्व मध्य रेल्वे के श्री विक्रम सिंह वरिष्ठ राजभाषा अधिकारी, गुरतुर गोठ नामक छत्तीसगढ़ी भाखा के पहली वेब पत्रिका के सम्पादक अऊ गूगल के संग छत्तीसगढ़ी की-बोर्ड निर्माण म सहयोग बर श्री संजीव तिवारी (भिलाई नगर) अउ मोबाइल म छत्तीसगढ़ी आखर कोष के संयोजना बर श्री शरद यादव (सीपत) ल सम्मनित करे जाही। ये वाले पूरा कार्यक्रम प्रसिद्ध कवि स्वर्गीय डॉ. विमल कुमार पाठक ल समर्पित होही।




सम्मेलन म 20 अउ 21 जनवरी के दिन संगोष्ठी के आयोजन करे जाही। जेमां 20 जनवरी के दिन बिहनिया 10 ले 12 बजे तक डॉ. श्रीमती सत्यभामा आडिल के अध्यक्षता म ’छत्तीसगढ़ी साहित्य मं महिला साहित्यकार मन के भूमिका’, 12 बजे ले 2 बजे तक के सत्र म ’लोक व्यवहार अउ प्रशासकीय कामकाज म राजभाषा छत्तीसगढ़ी’, मंझनिया 3 बजे ले 7 बजे तक ’मंचीय काव्य मं छत्तीसगढ़ी के प्रभाव अउ महत्व’ सत्र के अध्यक्षता पंडित दानेश्वर शर्मा करहीं, जबकि ए दिन के आखरी सत्र डॉ. विमल कुमार पाठक के व्यक्तित्व अउ योगदान ले सम्बद्ध होही, जेकर अध्यक्षता पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी करहीं अउ वरिष्ठ साहित्यकार श्री नंद किशोर तिवारी अउ डॉ. विनय कुमार पाठक मुख्य वक्ता होहीं। इही कड़ी म 21 जनवरी के दिन बिहनिया 10 ले 12 बजे तक के सत्र ’छत्तीसगढ़ म अनुवाद परम्परा प्रयोग अऊ महत्व’ उपर केन्द्रित होही, जेकर अध्यक्षता डॉ. परदेशी राम वर्मा करहीं। आखरी सत्र 12 ले 2 तक होही, जेमां खुला सत्र अऊ समापन सत्र म कुछु अउ गोठ-बात होही। साल 2018 म आयोग के कार्यक्रम मन ल गति प्रदान करे के संकल्प के संग सत्र के समापन होही। सम्मेलन के काम मन ल व्यवस्थित करे के जिम्मा जिला समन्वय श्री विवेक तिवारी ल सौंपें गए हे।



सम्मेलन म छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के सहयोग ले प्रकाशित दू दर्जन ले जादा पुस्तक मन के विमोचन घलोक उद्घाटन सत्र म होही, जेमां प्रमुख रूप ले डॉ. जे.आर. सोनी के लिखे ’सतनाम रहस्य’, डॉ. विनय पाठक के लिखे ’लोक व्यवहार व कार्यालयीन छत्तीसगढ़ी’, ’छत्तीसगढ़ी साहित्य के ऐतिहासिक अध्ययन’ (डॉ. विमल कुमार पाठक), ’समसामयिक संदर्भ मन के निष्कर्ष म पंडित मुकुटधर पाण्डेय अउ डॉ. विमल कुमार पाठक के साहित्य के तुलनात्मक अध्ययन (श्रीमती रंजना मिश्रा), ’छत्तीसगढ़ी लोक रामायण (श्री गणेश राम राजपूत) आदि सामिल हे।
ए अवसर म तीनों दिन छत्तीसगढ़ी साहित्य के प्रदर्शनी लगाए जाही, जेखर दायित्व कपिल नाथ कश्यप जयंती समारोह ल सौंपे गए हे। ए अवसर म छत्तीसगढ़ी राजभाषा विशेषांक के लोकार्पण घलोक करे जाही, जेमां श्री राघवेन्द्र दुबे अतिथि सम्पादक हें।

राज्य स्तरीय छंदमय कवि गोष्ठी संपन्न

छन्द के छ परिवार के दीवाली मिलन अउ राज्य स्तरीय कवि गोष्ठी के सफल आयोजन दिनांक 12/11/17 के वि.खं. सिमगा के ग्राम हदबंद मा अतिथि साहित्यकार छन्द विद् श्री अरुण कुमार निगम दुर्ग, विदूषी श्रीमती शंकुन्तला शर्मा भिलाई, श्रीमती सपना निगम, श्री सूर्यकांत गुप्ता दुर्ग के गरिमामयी उपस्थिति मा सम्पन्न होइस । कार्यक्रम मा गाँव के सरपंच श्रीमती सरिता रामसुधार जाँगड़े, श्री संतोषधर दीवान मन अतिथि के रूप मा उपस्थित रहिन।
कार्यक्रम के शुरुआत अतिथि मन द्वारा मां सरस्वती के छाया चित्र मा पूजा अर्चना अउ दीप प्रज्वलन ले होइस। छ्न्द साधक श्री मोहनलाल वर्मा हा गीतिका छंद मा सरस्वती बंदना
प्रस्तुत करिन। स्वागत सत्कार के बाद कार्यक्रम के संचालक श्री अजय अमृतांशु हा सबले पहिली छंद पाठ करे के नेवता श्री जितेन्द्र वर्मा कोरबा ला दीन। वर्मा जी हा सार छन्द मा अपन रचना “मोर पंख ला मूँड़ लगा दे” प्रस्तुत करके सबके मन ला मोह लीन । तेकर पाछू कबीर धाम ले पधारे श्री ज्ञानु दास मानिकपुरी “प्रभु तोला खोजव कहाँ मंदिर मस्जिद द्वार” दोहा छन्द मा अउ श्री मोहन निषाद भाटापारा मन घलो दोहा छंद मा अपन प्रस्तुति देके सुनइया मन ले नँगते ताली बटोरिन।अब पारी आइस सिमगा के मनीराम मितान के अपन दोहा छंद ” सुरता ननपन खेल के आथे संगी मोर” पढ़ के माहौल ला आनंददायी बना दीन।कोरबा ले आये छन्द साधिका श्रीमती आशा आजाद मन तो गुरतुर आवाज़ मा दोहा छन्द पढ़के खूब ताली बजवइन।मधुर कंठ के धनी गोरखपुर ले आये श्री सुखदेव सिंह अहिलेश्वर हा कुकुभ छंद पढ़के सब ला ताली बजाय बर मजबूर कर दीन। श्री दिलीप वर्मा बलौदाबाजार अपन चौपई छंद के माध्यम ले अंधविश्वास उप्पर खूब प्रहार करिन। अब तो एक के पाछू एक छंद रस के बरसा शुरु होगे।
छुरा ले आय श्री ललित साहू दोहा छंद, मुगेली ले आय श्री गजानंद पात्रे हा
हरिगीतिका छन्द , श्री जगदीश साहू कड़ार हा दोहा छंद ,श्री राजेश निषाद आरंग दोहा छंद , श्रीमती नीलम जायसवाल भिलाई दोहा छंद,श्री हेमलाल साहू कोरबा त्रिभंगी छंद पोखन जायसवाल पलारी दोहा छंद, श्री कौशल साहू सुहेला दोहा छंद श्री आसकरन दास जोगी बिलासपुर मोहन सवैया, श्री हेमंत मानिकपुरी भाटापारा दोहा छन्द,श्री संतोष फरिकार भाटापारा कुंडलिया छंद ,श्री मथुरा प्रसाद वर्मा कौशल पुर दोहा छंदअउ श्री नरेन्द्र वर्मा भाटापारा हाइकू छंद मा अपन अपन प्रस्तुति दे के खूब वाहवाही लूटिन।
कार्यक्रम के छेंवाती बेरा मा शानदार आयोजन करइया श्री चोवाराम वर्मा बादल हा देवारी बिषय मा अपन आल्हा छंद के पाठ करके सबके मन मा जोश अउ उमंग भर दीन।
कार्यक्रम के संचालक श्री अजय अमृतांशु के तो कोनो जवाब नइ रहिस। संचालन करत बीच-बीच मा अपन दोहा छंद के माध्यम ले नँगते ताली बजवावत रहिन। दुरुग ले पधारे श्रीमती सपना निगम मन अपन मिसरी कस मीठ आवाज़ मा सुग्घर छत्तीसगढ़ी गीत “सुन सुन वो दाई भइया ला पठो देबे” गा के अबड़े ताली बजवाइन। आसु छंद कार श्री सूर्यकांत गुप्ता हा आनी बानी के छन्द पाठ करके सुनइया मन ले अबड़ेच ताली सकेलिन।
छंदकार अउ संस्कृत के विदुषी शकुन्तला शर्मा हा आसीस के बचन संग किसिम किसिम के छंद पढ़के सब ला छन्द रस मा सराबोर कर दीन । उँकर रोला छंद “नटवर नागर नंद आज मोरो घर आबे” सब ला नँगते भाइस संगे संग छत्तीसगढ़ी के मानकीकरण एला पोठ बनाय के सम्बन्ध मा घलो चर्चा करिन। छंद के छ परिवार के नेव धरइया अउ एकर मुखिया श्री अरुण कुमार निगम हा आशीर्वाद के बचन कहत कहिन कि डेड़ बछर के भीतर आज छत्तीसगढ़ मा छत्तीसगढ़ी छंद लिखइया 30 छंद कार होगे हें। आगू ओमन कहिन कि छत्तीसगढ़ी भाखा ला पोठ बनाय बर हमला आन भाखा के शब्द मन ला अपनाय बर परही। छत्तीसगढ़ी ला हम रूपवती भले नइ बना सकबो फेर गुणवती तो जरुर बना सकथन।जेन किसम हिन्दी ला आने आने प्रांत के मन आने आने बोलथे फेर लिखे के बेरा एके किसम के लिखथें वइसने छत्तीसगढ़ी ला भले आने आने जिला माआने आने बोलयँ फेर लिखे के बेर हमला एके किसम ले लिखे ला परही तबहे छत्तीसगढ़ी के मानकीकरण मा सहूलियत होही।
कार्यक्रम मा पहुना के रुप मा आय प्रो. मधुलिका अग्रवाल ,गाँव के गणमान्य डॉ जमाल कुरैशी अउ शा.उ.मा विद्यालय के प्राचार्य श्री मुबारक हुसैन मन घलो अपन विचार रखत सम्बोधित करिन। आयोजन के भार बोहइया श्री चोवाराम वर्मा बादल के तरफ ले बीच बीच मा जम्मो पहुना मन ला साल श्री फल अउ मया चिन्हारी भेंट करे गीस। आयोजक डहर ले जलपान मा ठेठरी, खुरमीअउ अरसा रोटी परोसे गीस जेन ए कार्यक्रम मा खास बात रहिस।श्री मुबारक हुसैन प्राचार्य जी आभार के शब्द संग कार्यक्रम के समापन होगे।

रिपोर्ट – मनीराम साहू “मितान”
ग्राम कचलोन

बी.आर.वर्मा द्वारा रचित पुस्तक का विमोचन

कल्याण स्नातकोत्तर महाविद्यालय शिक्षा संकाय के पूर्व असिस्टेंट प्रोफेसर बी.आर.वर्मा द्वारा रचित पुस्तक का विमोचन दुर्ग विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो त्रिपाठी ने किया। इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. एलआर वर्मा, उपप्राचार्य डॉ. एआर वर्मा, विभागाध्यक्ष संस्कृत प्रो. जानकीशरण पाण्डेय, विज्ञान निकाय अध्यक्ष डॉ. वाईआर कटरे, डॉ. सुमनलता सक्सेना तथा रचनाकार श्री वर्मा की पत्नी सावित्री वर्मा, पुत्री अर्पणा वर्मा एवं पुत्र रविशंकर वर्मा उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि यह किताब श्री वर्मा के निधन के पश्चात प्रकाशित हुई है। पुस्तक को सभी ने बेहद उपयोगी बताया।










संत मन के आशीर्वाद ले साकार होही स्वच्छ-स्वस्थ अऊ विकसित छत्तीसगढ़ के सपना : डॉ. रमन सिंह

  • मुख्यमंत्री हर करीस राजिम कुंभ कल्प के संत-समागम के शुभारंभ
  • नवापारा के सरकारी कॉलेज के नामकरण कुलेश्वर नाथ के नाम म करे के घोषणा
  • डॉ. सिंह हर करीस 25.57 करोड़ के लागत के सबमर्सिबल ब्रिज अऊ मार्ग के भूमिपूजन
  • कुलेश्वर मंदिर-लोमश ऋषि आश्रम के बीच 33.12 करोड़ के लागत के सस्पेंशन ब्रिज के घलोक होइस भूमिपूजन




रायपुर, 18 फरवरी 2017। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह कहिन हें कि छत्तीसगढ़ ल स्वच्छ, स्वस्थ अऊ विकसित राज्य बनाए के सपना संत मन के के आशीर्वाद ले पूरा होही। मुख्यमंत्री आज रात महानदी पैरी अऊ सोंढूर नदिया के पवित्र संगम म राजिम कुंभ कल्प मं आयोजित संत समागम के शुभारंभ समारोह ल संबोधित करत रहिन।
उमन शुभारंभ समारोह मं सामिल होए के पहिली भगवान राजीवलोचन के पूजा-अर्चना करिन अऊ संगम म आयोजित भव्य गंगा आरती मं घलोक सामिल होइन। मुख्यमंत्री ह संत-समागम ल संबोधित करत करत नवापारा ले राजिम अउ कुलेश्वर मंदिर तक संगम म 25 करोड़ 57 लाख रूपया के लागत ले बनइया सबमर्सिबल ब्रिज अउ पक्का सड़क अउ राजिम लोचन मंदिर ले कुलेश्वर मंदिर अउ लोमश ऋषि आश्रम तक 33 करोड़ 12 लाख रूपया के लागत ले बनइया संस्पेशन ब्रिज निर्माण के भूमिपूजन करिस। मुख्यमंत्री ह नवापारा के शासकीय महाविद्यालय के नामकरण कुलेश्वर नाथ शासकीय महाविद्यालय करे के घोषणा घलोक करिस। उमन कहिन – राजिम के परंपरागत वार्षिक मेला ल राज्य सरकार हर ओखर सम्पूर्ण गरिमा के संग सबके सहयोग ले कुंभ के स्वरूप देहे हे, जेखर बारह साल ए साल पूरा हो गए हे। ए उपलक्ष्य मं ए पइत के कुंभ महाकल्प के रूप मं मनाये जावत हे। मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ के सामाजिक समरसता अऊ सांस्कृतिक-आध्यात्मिक विशेषता मन के उल्लेख करत करत कहिन कि ये मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्री राम के माता कौशिल्या के धरती आय।




मुख्यमंत्री हर ए अवसर म राजिम के लोकप्रिय संतकवि स्वर्गीय पवन दीवान के पुण्य स्मरण करत करत कहिन कि राजिम मं आतेच उंखर उन्मुक्त हंसी अऊ ठहाका के सुरता आथे। मैं उमन ल श्रद्धापूर्वक नमन करत हौं। मुख्य अतिथि के आसंदी ले संत-समागम ल संबोधित करत करत डॉ. रमन सिंह ह कहिन – साधु संत मन छत्तीसगढ़ के लोक संस्कृति अऊ लोक परंपरा के संवाहक तीर्थ नगरी राजिम ल प्रयाग राज के मान्यता देहे हें। ए खातिर मैं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री होए के नाते जम्‍मो साधु-संत मन के स्वागत अऊ अभिनन्दन करत हौं। मोला खुशी हे कि राजिम कुंभ के यात्रा के ए साल बारहवां पड़ाव हे। छत्तीसगढ़ ल बने घलोक 16 साल होगे हे। सत्रहवां साल मं छत्तीसगढ़ एक युवा ले तरूणाई मं प्रवेश करत हे। आम जनता के आशीर्वाद ले छत्तीसगढ़ आज तेजी ले विकसित हो रहे राज्य के रूप मं अपन पहिचान बनावत हे। निकट भविष्य मं छत्तीसगढ़ देश के सर्वाधिक विकसित अऊ अग्रणी राज्य मन के श्रेणी मं सामिल हो जाही। राज्य के सरगुजा क्षेत्र ले नक्सल आतंक खतम हो गए हे अऊ बस्तर घलोक बहुत जल्द नक्सलवाद ले फ्री हो जाही।

मुख्यमंत्री हर कहिन कि छत्तीसगढ़ रत्न गर्भा धरती आज विकास के नवा ऊचाई ल छूवत हे। अधोसंरचना के विकास के मामला मं घलोक छत्तीसगढ़ पीछू नइ हे। इहां के लोहा, कोयला, स्टील, सीमेंट के सेती छत्तीसगढ़ेच नहीं भलुक पूरा देश ल विकास के राह मं ले जाय के काम होवत हे। छत्तीसगढ़ के 100 प्रतिशत गांव मन मं बिजली पहुंच गे हावे। साधु-संत मन के के आशीर्वाद ले शिक्षा अऊ स्वास्थ्य के गुणवत्ता तेजी ले सुधरे हे। मुख्यमंत्री हर महानदी के महिमा के बखान करत करत कहिन कि ये नदिया छत्तीसगढ़ के विकास के चिनहा हे। छत्तीसगढ़ के हर विकास मं महानदी के महत्वपूर्ण अऊ ऐतिहासिक भागीदारी हावे। संत मन के के प्रभाव ले 16-17 सात के यात्रा मं छत्तीसगढ़ हर साल विकास के नवा ऊचाई ल छूवत जात हे अऊ देश-दुनिया मं स्थापित होवत हे। ए अवसर म धार्मिक न्यास अऊ धर्मस्व मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल हर कहिन – संत-महात्मा मन के आशीर्वाद ले छत्तीसगढ़ विकास के रस्ता म तेजी ले आगू बढ़त हे। ऊंखर आशीर्वाद अऊ मुख्यमंत्री के मार्गदर्शन मं राजिम कुंभ के बारहवां साल मं ‘कल्प’ सब्द जोड़े गीस हावे। श्री अग्रवाल हर कहिन – राज्य सरकार हर विधानसभा मं कानून बनाके राजिम मेला ल कुंभ के स्वरूप देहे अऊ आयोजन बर नियमित राशि के व्यवस्था करही। पंचायत अऊ ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चन्द्राकर हर कहिन – मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के सरकार ले गरीब मन बर एक रूपया किलो चावल संग तीर्थ यात्रा योजना, युवा मन बर कौशल उन्नयन योजना, सब्बो परिवारों ल स्वास्थ्य बीमा संग गांव, गरीब अऊ किसान मन बर कई योजना मन के संचालन सफलतापूर्वक करे जावत हे। ये सबले बड़े अऊ सच्चा धर्म के काम हे। कार्यक्रम मं संत बालक अऊ प्रवचनकर्ता श्री रमेश भाई ओझा ह घलोक अपन विचार रखिन।
ए अवसर म महिला अउ बाल विकास मंत्री श्रीमती रमशीला साहू, खाद्य मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले, संसदीय सचिव श्री गोवर्धन मांझी, छत्तीसगढ़ राज्य वित्त आयोग के अध्यक्ष श्री चन्द्रशेखर साहू, अपेक्स बैंक के अध्यक्ष श्री अशोक बजाज, अध्यक्ष जिला पंचायत गरियाबंद डॉ. श्वेता शर्मा, छत्तीसगढ़ विधानसभा के पहिली अध्यक्ष श्री धरमलाल कौशिक, राजिम के विधायक श्री संतोष उपाध्याय, नगर पालिका गोबरा-नवापारा के अध्यक्ष श्री विजय गोयल, नगर पंचायत के अध्यक्ष श्री पवन सोनकर संग बहुत अकन वरिष्ठ जनप्रतिनिधि अऊ देश भर ले आए संत-महात्मा उपस्थित रहिन। रायपुर संभाग के कमिश्नर श्री बृजेश मिश्रा संग प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी मन घलोक उहां मौजूद रहिन।



आम जनता के जीवन मं बदलाव लाना ही सरकार के असल उद्देश्य : डॉ.रमन सिंह

मुख्यमंत्री हर गट्टासिल्ली मं 96 करोड़ के 26 विकास कार्य के करीस लोकार्पण अऊ भूमिपूजन
दू हजार 523 ल मिलिस प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास के स्वीकृति पत्र






रायपुर, 18 फरवरी 2017। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह हर आज धमतरी जिला के नगरी विकासखण्ड के ग्राम तालपारा (गट्टासिल्ली) मं अंदाजन 96 करोड़ के 26 विकास कार्य के लोकार्पण अऊ भूमिपूजन करिस। ए मौका म उमन आम सभा ल संबोधित करत करत कहिन कि केवल सड़क, पुल-पुलिया या भवन बनाए ले ही विकास संभव नइ हे। प्रदेश सरकार के मंशा हावे कि आम जनता के जीवन मं सकारात्मक बदलाव लाए जाय अऊ ए खातिर पूरा सरकार प्रतिबद्ध हे। एही कड़ी मं आज गट्टासिल्ली मं नगरी क्षेत्र के दू हजार 523 हितग्राही मन ल प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत् स्वीकृति पत्र वितरित करे गीस। उमन बताइन कि ए योजना के तहत धमतरी जिला मं 23 हजार 646 आवास गरीब परिवार मन ल दे जाही। ए खातिर कुल 347 करोड़ रूपया के व्यय होही। नगरी विकासखण्ड मं पांच हजार 911 परिवार ल ए योजना के लाभ दिलाए जाही। एखर ले हितग्राही मन के पक्का घर के सपना पूरा होही अऊ ऊंखर जीवन मं बदलाव आही।
मुख्यमंत्री हर कहिन कि धमतरी जिला बहुत अकन क्षेत्र मन मं उत्कृष्ट काम करत हे। बात चाहे स्वच्छ भारत मिशन के तहत धमतरी ग्रामीण सहित कुरूद नगर पंचायत अऊ नगर निगम धमतरी ल खुले म शौच फ्री करे के होवय या शत्-प्रतिशत गांव ल डी.डी.यू.जी.जे.वाय. अऊ मुख्यमंत्री मजरा-टोला योजना के तहत् शत्-प्रतिशत विद्युतीकृत करके सब्बो स्कूल, आंगनबाड़ी अऊ स्वास्थ्य केन्द्र मन ल बिजली देवाए के काम हो या प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत् 46 हजार ले अधिक हितग्राही मन ल गैस कनेक्शन वितरण के काम हो। धमतरी जिला मं उत्कृष्ट काम होय हावे, जऊन कि सराहनीय हे। उमन जिला के सब्बो आंगनबाड़ी, आश्रम-छात्रावास मन मं डबल गैस कनेक्शन प्रदाय करे के अभिनव पहल ल घलोक मंच ले काफी सराहिन। अपन उद्बोधन मं मुख्यमंत्री हर बताइन कि आवास मड़ई के समय आज 50 करोड़ ले अधिक लागत वाले 132/33 के.व्ही. उपकेन्द्र नगरी के भूमिपूजन करे गीस हे। जेखर निर्माण ले 249 गांव के लोगन ल वोल्टेज के समस्या ले निजात मिलही। संगे संग नगरी, सांकरा, घटुला, सिंगपुर, गुहाननाला आदि ले विद्युत प्रदायित क्षेत्र मन के वोल्टेज मं सुधार होही। सौर सुजला योजना के तहत् धमतरी जिला मं 500 हितग्राही मन ल ए साल पांच हॉर्सपावर तक के सौर चलित पम्प कनेक्शन दे जाय के जिक्र करत करत मुख्यमंत्री हर बताइन कि नगरी क्षेत्र मं ही 200 हितग्राही मन ल ए योजना के तहत् लाभ दे जाही।





ए मौका म मुख्यमंत्री ह क्षेत्र के जनता के मांग ल धियान राखत सोंढूर नहर के नगरी वितरक शाखा ले दुगली-सिंगपुर तक नहर विस्तार काम बर प्रशासकीय स्वीकृति दीन, वन प्रकरण ल निराकृत कर जल्द ले जल्द इहां काम शुरू करे के बात कहिन। असल म शासन के चालू बाजट सत्र मं एला सामिल कर ले गए हे अऊ ए खातिर 50 लाख के आबंटन के प्रावधान घलोक करे गए हे। मुख्यमंत्री ह ए अवसर म धमतरी जिला ल शत्-प्रतिशत विद्युतीकृत करे खातिर कलेक्टर डॉ.ले.आर.प्रसन्ना अउ विद्युत विभाग के कार्यपालन अभियंता श्री अशोक खण्डेलवाल ल प्रमाण पत्र सौंपिन। संगे संग कइ ठन हितग्राहीमूलक योजना मन के तहत् साढ़े 11 हजार ले जादा लोगन ल 43 करोड़ रूपया ले अधिक के सामान, चेक आदि के वितरण करे गीस।
कार्यक्रम के अध्यक्षता करत करत प्रदेश के पंचायत अउ ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चन्द्राकर हर सप्तऋषि मन के तपोभूमि नगरी मं मुख्यमंत्री के स्वागत करत करत ऊंखर प्रयास ले क्षेत्र मं होए विभिन्न विकास कार्य के जिक्र करिस। उमन उम्मीद जताईन कि मुख्यमंत्री हर जऊन प्रतिबद्धता के संग क्षेत्र के विकास मं प्रयास करे हे, वोकर बेहतर परिणाम आगू घलोक मिलत रहिही। ए मौका म विशिष्ट अतिथि के आसंदी ले प्रदेश के महिला अउ बाल विकास मंत्री श्रीमती रमशीला साहू हर अपन उद्बोधन मं कुपोषण के दिशा मं सर्वाधिक गिरावट लाय म धमतरी जिला ल सराहिन। सिहावा विधायक श्री श्रवण मरकाम हर घलोक कार्यक्रम ल बतौर विशिष्ट अतिथि संबोधित करिन अऊ हर्ष व्यक्त करिन कि क्षेत्र के 2523 लोगन ल आज प्रधानमंत्री आवास ग्रामीण योजना के तहत् स्वीकृति पत्र मुख्यमंत्री के हाथ मिलिस। ए मौका म उमन क्षेत्र के कुछ मांग घलोक मुख्यमंत्री के आघू रखींन। कार्यक्रम मं कलेक्टर डॉ.ले.आर.प्रसन्ना ह जिला के उपलब्धि के संबंध मं विस्तार ले जानकारी दीन। ए अवसर म जिला पंचायत अध्यक्ष श्री रघुनंदन साहू, महापौर नगर निगम धमतरी श्रीमती अर्चना चौबे, जनपद अध्यक्ष नगरी श्रीमती पिंकी शिवराज शाह, धमतरी श्रीमती रंजना साहू, कुरूद पूर्णिमा साहू, जनपद अध्यक्ष मगरलोड श्रीमती निरूपा दाऊ, श्री इंदर चोपड़ा, श्री निरंजन सिन्हा, श्री रामू रोहरा आदि मंचासीन रहिन।



भूतपूर्व सैनिक मन ले सहायक ग्रेड 3 के सीधा भर्ती बर आवेदन आमंत्रित




रायपुर, 17 फरवरी 2017। जिला सैनिक कल्याण कार्यालय ले रायपुर, धमतरी, महासमुंद, बलौदाबाजार अउ गरियाबंद जिला के भूतपूर्व सैनिक मन ले कार्यालय कलेक्टर गरियाबंद म सहायक ग्रेड-3 के सीधा भर्ती बर आवेदन आमंत्रित करे गए हे। इच्छुक भूतपूर्व सैनिक अपन आवेदन भरके सीधा कार्यालय कलेक्टर गरियाबंद ल भेज सकत हावय। विज्ञापन अउ आवेदन के जानकारी बेब साइट www.gariaband.gov.in म मिल जही। जादा जानकारी बर जिला सैनिक कल्याण कार्यालय, कचहरी परिसर, रायपुर या दूरभाष नंबर 0771-2427499 म संपर्क करे जा सकत हे।







दिव्यांग लइका मन बर हॉफ मैराथन दौड़ के आयोजन




19 फरवरी को रायपुर म

राजनांदगांव 17 फरवरी 2017। दिव्यांग लइका मन बर हॉफ मैराथन दौड़ के आयोजन 19 फरवरी 2017 को राजधानी रायपुर म करे गए हे। उप संचालक समाज कल्याण विभाग ह बताइस कि राजनांदगांव जिला के शासकीय अउ स्वैच्छिक संस्था मन के दिव्यांग लइका मन ल ए प्रतियोगिता म सामिल करे जाही। ए प्रतियोगिता म सामिल होए खातिर दिव्यांग लइका मन के पंजीयन खेल अउ युवा कल्याण विभाग के वेबसाईट http:sportsysw.cg.in/marathonregistrationform.aspx अउ मोबाईल म गूगल प्ले स्टोर ले रायपुर हॉफ मैराथन-2017 डाऊनलोड करके घलोक करे जा सकत हवय। एखर संबंध म विस्तृत जानकारी कार्यालय उप संचालक समाज कल्याण विभाग कम्पोजिट बिल्डिंग राजनांदगांव ले प्राप्त करे जा सकत हे।







‘छत्तीसगढ़ म सामाजिक समरसता कल अउ आज’ संगोष्ठी के आयोजन 19 फरवरी को




रायपुर, 17 फरवरी 2017। गुरू घासीदास साहित्य संस्कृति विकास समिति के तत्वाधान म ‘छत्तीसगढ़ सामाजिक समरसता कल अउ आज संगोष्ठी’ के आयोजन ग्राम फरहद पोस्ट सोमनी जिला राजनांदगांव म 19 फरवरी को करे जाही। ए संगोष्ठी म अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति अउ अन्‍य पिछड़ा वर्ग समुदाय के सामाजिक आर्थिक विकास ले संबंधित कई विषय मन म विचार विमर्श करे जाही। ए संगोष्ठी म अध्यक्ष छत्तीसगढ़ राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग डॉ. सियाराम साहू, अध्यक्ष अनुसूचित जनजाति श्री जी.आर. राना, अध्यक्ष छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जाति आयोग श्री रामजी भारती, महापौर नगर पालिक निगम राजनांदगांव श्री मधुसूदन यादव, विधायक डोंगरगढ़ श्रीमती सरोजनी बंजारे संग छत्तीसगढ़ के कई जिला ले आवइया प्रबुद्धजन उपस्थित रइहीं।







लड़की बन उदयन फेसबुक म करय टूरी मन ले चैट, FB म पटावय गर्लफ्रैंड

  • उदयन के 110 FB एकाउंट रहिस, ओखर आकांक्षा संग 11 अऊ गर्लफ्रैंड रहिस
  • रेयान, करण ग्रोवर, राजीव अऊ अंजलि के नाम म रहिस ओखर एकाउंट
  • उदयन मेर 2500 अंगरेजी फिल्मों के सीडी मिले हे, ओ कबूलिस के फिल्म देखके ही मारेंव




कोलकाता पुलिस ल देहे जानकारी के अनुसार तीन झन के मर्डर के आरोपी उदयन के फेसबुक म 110 एकाउंट थे रहिस। उदयन के 11 गर्लफ्रैंड घलव रहिस, उन टूरी मन से ओ हर फेसबुक के जरिये ही दोस्ती करे रहिस। वोकर FB खाता रेयान, करण ग्रोवर, राजीव अऊ अंजलि के नाम से रहिस. इही FB खाता मन ले वो ह टूरी मन ले दोस्ती गांठय. आकांक्षा ले घलोक ओखर दोस्ती फेसबुक म ही होए रहिस. भोपाल के आकांक्षा मर्डर केस के आरोपी साइकोपैथ किलर उदयन दास के आकांक्षा के अलावा अउ 11 गर्लफ्रेंड रहिस. ये खुलासा पुलिस र जांच के बाद करे हावे. ये सोशल साइट्स म ए शातिर के सौ ले जादा खाता मौजूद हे। जेकर उपयोग ये टूरी मन ल फंसाये बर करय। इंजीनियरिंग म दू पइत फेल होए साइकोपैथ किलर उदयन टूरी मन ल फंसाए बर अपन फेसबुक अकाउंट के उपयोग करय। उदयन दास के कब्जा ले पुलिस ल अंगरेजी फिल्म के 2500 सीडी बरामद होए हे. वो अक्सर अंगरेजी फिल्म ही देखय. पुलिस ल पूछताछ म पता चले हे कि ओला आकांक्षा के कतल के साजिश के आइडिया एक अमेरिकन फिल्म देखके मिलीस। उही फिल्म के तर्ज म ओ ह अपन गर्लफ्रेंड के मर्डर करे रहिस।
पता चले हे कि जियो के आए ले छत्‍तीसगढ़ म घलो कतकोन बेंवारस टूरा मन उदयन जइसे कई ठो फरजी FB खाता चलावत हें, तेला पुलिस ताकत हे अउ उंखर पूरा जानकारी कलेचुप लेवत हे।