जन्‍माध कवि

नरसिं‍ह दास के जनम बिलासपुर जिला के घिवरा गांव म सं.1927 म होय रहिस उन अपन परिचय खुदे लिखे हवय

पुत्र पिताम्‍बर दास के नरसिंह है नाम
जन्‍म भूमि घिरवा तजे बसे तुलसी ग्राम
पि‍गल शास्‍त्र म पढे़व कछु निरछर अधाम
अंध मन्‍दगति मूढ़है जानत जानकि राम

छत्‍तीसगढी़ म इंकर तीन ठन ग्रंथ परकासित होय रहिस
(1) जानकी माई हित विनय
(2) नरसिह चौतीस
(3) शिवायन

गुरतुर गोठ म संजोए उंखर रचना –