छत्तीसगढ़ी भाषा में रिश्ते-नाते

दाई / महतारी / दइ = माँ (Mother)
ददा = पिता (Father)
बबा = दादा (Paternal Grandfather)
डोकरीदाई = दादी (Paternal Grandmother)
कका = चाचा (Father’s Younger Brother)
काकी = चाची (Father’s Younger Brother’s Wife)
नानी / आजी, ममादाई = नानी (Maternal Grandmother)
नाना /आजा बबा = नाना (Maternal Grandfather)
मौसी दाई = सौतेली माँ (Step Mother)
मौसी = मौसी (Mother’s Sister)
मौसा = मौसा (Mother’s Sister’s Husband)
ममा = मामा (Mother’s Brother)
मामी = मामी (Mother’s Brother’ Wife)
भई / भईया = माई (Brother)
भौजी = भाभी (Brother’s Wife)
बहिनी / दीदी = बहन (Sister)
बहनोई = छोटी बहन का पति (Brother-in-law)
जीजा = बंडी बहन का पति -जीजा (Sister’s Husband)
फूफा = पिता की बहन का पति (Father’s Sister’s Husband)
फुफु दीदी बुआ = पिता की बहन (Father’s Sister)
ससुर = ससुर (Wife’s/ Husband’s Father)
सास = सास (Wife’s/ Husband’s Mother)
पत्तो / बहुरिया = बहू (Daughter in Law)
बहु = बेटे की पत्नी (Daughter in Law)
सारी = साली (Wife’s Sister)
सारा = साला (Wife’s Brother)
डेढ़ सास = पत्नी की बङी बहन (Wife’s elder Brother’s Wife)
डेढ़ सारा = पत्नी का बडा भाई (Wife’s elder Brother)
साढू = साली डेढ सास का पति (Wife’s Sister’s Husband)
सरहज = साला डेढ साला की पत्नी (Wife’s Brother’s Wife)
ननंद = पति की बहन (Husband’s Sister)
नंदोई = पति के बहन का पति (Husband’s Sister’s Husband)
कूरा ससूर / जेठ = पति का बड भाई (Husband’s elder Brother)
देवर = पति का छोटा भाई (Husband’s younger Brother)
देवरानी = देवर की पत्नी (Husband’s younger Brother’s Wife)
जेठानी = जेठ की पत्नी (Husband’s elder Brother’s Wife)
ममा ससुर = पत्नी/पति का मामा (Wife’s/Husband’s Uncle)
मामी सास = पत्नी/पति की मामी (Wife’s/Husband’s aunt)
मौसा ससुर = पत्नी/पति का मौसा (Wife’s/Husband warts)
मौसी सास = पत्नी/पति की मौसी (Wife’s/Husband’s aunt)




नना ससुर = पत्नी/पति का नाना
नानी सास = पत्नी/पति की नानी
कका ससुर = पत्नी/पति का चाचा
काकी सास = पत्नी/पति की चाची
फूफा ससुर = पत्नी/पति की बूआ का पति
फुफु सास = पत्नी/पति की बूआ
बेटा = बेटा (Son)
बेटी = बेटी (Daughter)
भाईबहू = छोटे भाई की पत्नी
ढेंढा = विवाह की रस्म कराने वाला (जीजा या मामा)
ढेंढिन = विवाह की रस्म कराने वाली (बडी बहन / दीदी या बुआ)
सुआसिन = ससुराल पक्ष की विवाह की रस्म कराने वाली
सुआसा = ससुराल पक्ष का विवाह की रस्म कराने वाला
बिहइ = विवाह कर लायी गई पत्नी
उदढरिया = भगाकर लायी गई पत्नी
मितान, गियाँ = मित्र (Friend)
डौकी /गोसइन /घरवाली / सुआरी / = पत्नी (Wife)
डौका / गोसइयॉ /घरवाला, लगवार = पति (Husband)

उपर दिये गए शब्‍दों में सुधार या सुझाव देकर भाषा को समृद्ध करने में सहयोग करें.
छत्‍तीसगढ़ी में शरीर के अंग

8 Thoughts to “छत्तीसगढ़ी भाषा में रिश्ते-नाते”

  1. Puneshwar Kumar

    ससुराल ल english में बताहू…….

  2. Bahut achcha lagis ye padh k

    अइसनहे ला पढ़बे ता जानकारी मिलते रहिथे
    अउ शब्द जाने ला मिलते. जय जोजोहार भैया मन लाल.

  3. MUKESH

    बहुत सुघ्घर ?????

  4. अनिल तिवारी

    महतारी भाखा के बड़ सुग्घर अउ जरूरी जानकारी

  5. अनिल तिवारी

    महतारी भाखा के बड़ सुग्घर अउ जरूरी जानकारी

  6. अनिल उपाध्याय

    अब्बड़ सुघ्घर जानकारी हवय,

  7. बहुत बढ़िया लागीस जानकारी ह

  8. Suraj Chandrakar

    बने जानकारी दे हाबे एमा।

Comments are closed.